बच्चों के बाल बढ़ाने के उपाय | बच्चों के बाल बढ़ाने के घरेलू उपाय

बच्चों के 2 मिनट में बाल लंबे करने का तरीका

बच्चों के बाल बढ़ाने के उपाय
बच्चों के बाल बढ़ाने के उपाय

अगर आप भी चाहते हैं कि आपके बच्चे के बाल घने और मजबूत हों तो आप खुद इस इच्छा को पूरा करने के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं लेकिन आज हम आपको बच्चों के बाल बढ़ाने के उपाय बताएँगे 

अगर आप कम उम्र से ही अपने बच्चों के बालों पर ध्यान देना शुरू कर देते हैं, तो बाद में उनके बाल घने और मजबूत हो सकते हैं और लंबे समय तक स्वस्थ और काले रह सकते हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे प्राकृतिक तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप अपने बच्चे के बालों को घना, लंबा और मजबूत बना सकती हैं।


नारियल का तेल

नारियल का तेल विटामिन ई से भरपूर होता है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। यह हमारी त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। नारियल तेल में मौजूद गुण बालों की ग्रोथ के लिए अच्छे होते हैं। नारियल का तेल बालों की चमक बढ़ाता है और बालों का झड़ना भी रोकता है।

अध्ययनों में शोधकर्ताओं ने यह भी पाया है कि कुछ घंटों के बाद बालों में नारियल का तेल लगाने से बाल धोने से बाल खूबसूरत बनते हैं और जड़ से मजबूत होते हैं। इसे सूरजमुखी और मिनरल ऑयल के साथ लगाने से भी बालों के झड़ने की समस्या को रोका जा सकता है।

अगर आप अपने बच्चे के घने लंबे बाल चाहती हैं तो हर हफ्ते नारियल तेल की मालिश करें। यह बालों को मॉइस्चराइज़ करता है। अपनी हथेली पर थोड़ा सा ऑर्गेनिक और शुद्ध नारियल का तेल लें और बच्चे के सिर की 20 मिनट तक धीरे-धीरे मालिश करें। एक घंटे बाद बच्चे के बालों को गुनगुने पानी से धो लें।
बच्चे की सरसों के तेल से मालिश होगी तो हड्डियां होंगी मजबूत, जानिए मालिश का तरीका



सरसों का तेल रक्त प्रवाह में सुधार करता है और बच्चे के समग्र स्वास्थ्य में सुधार करता है। रोजाना बच्चे की मालिश करने से शरीर स्वस्थ और मजबूत बनता है। इसके अलावा सरसों का तेल शरीर में गर्मी बनाए रखने में काफी मदद करता है। यही कारण है कि सरसों के तेल का उपयोग बच्चे को ठंड के मौसम और ठंडे क्षेत्रों में गर्म रखने के लिए किया जाता है।


लहसुन की कुछ कलियां लें और इसे सरसों के तेल में डालकर हल्का गर्म करें। अब तेल के थोड़ा ठंडा होने के बाद इसे बच्चे के सीने पर लगाएं। इस तरह शिशु में खांसी और जुकाम को काफी हद तक कम किया जा सकता है। आप लहसुन की जगह तुलसी के पत्ते भी डाल सकते हैं।

सरसों के तेल में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इससे मालिश करने पर बच्चे को त्वचा के संक्रमण से सुरक्षा मिलती है। सरसों का तेल बच्चे को त्वचा के विभिन्न संक्रमणों से बचाने में मदद करता है।

सरसों का तेल बच्चे के बालों की ग्रोथ को बढ़ाने में काफी कारगर होता है। रोजाना इस तेल से बालों और स्कैल्प की मसाज करने से बालों की ग्रोथ अच्छी होती है।

सरसों का तेल बच्चों को मच्छरों के काटने से भी बचाता है। इस तेल की तेज गंध बच्चे को मच्छरों से दूर रखती है।

सरसों के तेल में कई तरह के एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं और यही कारण है कि इस तेल की मालिश से बच्चे की त्वचा स्वस्थ रहती है और त्वचा पर किसी तरह का संक्रमण नहीं होता है।

बच्चे को अक्सर फंगल इन्फेक्शन हो जाता है जिससे काफी परेशानी होती है। अगर आप अपने बच्चे की सरसों के तेल से मालिश करती हैं तो फंगल इंफेक्शन का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

अपने बच्चे के लिए इस तेल का अधिकतम लाभ उठाने के लिए आप इस तेल का उपयोग निम्नलिखित तरीकों से कर सकती हैं।


सबसे पहले तेल को उबाल लें और फिर इसे ठंडा करके एक बोतल में भर लें। रोजाना नहाने से पहले इस तेल से बच्चे के सिर और शरीर की मालिश करें। आप चाहें तो तेल को इस्तेमाल से पहले कुछ मिनट तक गर्म करने के बाद भी इस्तेमाल कर सकते हैं। सरसों के तेल में अजवायन डालकर उबाल लें और ठंडा होने दें। अब इस तेल से बच्चे की मालिश करें। आप सरसों के तेल में लहसुन की कलियां या तुलसी के पत्ते डालकर गर्म करके भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

शैम्पू करो

अक्सर मांएं अपने बच्चे के बाल रोजाना धोने से डरती हैं, लेकिन आपको बता दें कि अगर आप नियमित रूप से शैंपू करती हैं तो इससे बच्चे का सिर साफ हो जाता है और उस पर जमी धूल और गंदगी निकल जाती है। आप बच्चे के बाल हफ्ते में 2 या 3 बार धो सकती हैं, लेकिन ध्यान रहे कि बच्चे को गुनगुने पानी से ही नहलाएं और बेबी शैम्पू का इस्तेमाल करें।

बच्चे की खोपड़ी पर धूल और मिट्टी के जमा होने से सूखापन हो सकता है, जो बालों के विकास को धीमा कर सकता है। ऐसे में जरूरी है कि बच्चे के बाल नियमित रूप से धोएं।


एलोविरा

एलोवेरा त्वचा के लिए कितना अच्छा होता है ये तो सभी जानते हैं लेकिन आपको बता दें कि यह बालों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। यह बालों के अच्छे विकास को बढ़ावा देता है और इसे लगाने की विधि भी बहुत सरल है। एलोवेरा जूस को सीधे या शैम्पू में मिलाकर बच्चे के सिर पर लगाएं।


आर्गन का तेल

बालों के लिए अरंडी का तेल बहुत अच्छा माना जाता है। बालों को सुंदर, चमकदार, रेशमी और मजबूत बनाने के लिए ब्यूटी पार्लर में भी इस तेल का उपयोग किया जाता है। यह बच्चे के स्कैल्प को मॉइस्चराइज करने का भी काम करता है।


दूध से बने प्रोडक्ट्स

दूध से बने सभी उत्पाद आपके बच्चे के विकास के लिए बहुत जरूरी होते हैं। उसके आहार में पनीर, दही या दूध से बना शेक बनाएं।

तो इन आसान उपायों को अपनाकर आप अपने बच्चे को खूबसूरत और घने बाल दे सकती हैं। बच्चे के आहार में अधिक से अधिक पोषक तत्वों से भरपूर चीजों को शामिल करें क्योंकि आहार हमारे बालों के लिए बहुत जरूरी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ